भारतीय वैश्य महासंघ ने की सभा

भारतीय वैश्य महासंघ की सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री विनय गोयल ने कहा की वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा पास कराया गया नागरिकता संशोधन अधिनियम देश के इतिहास में एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा की पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में जिस प्रकार वहां के अल्पसंख्यकों के साथ धार्मिक आधार पर उत्पीड़न हुआ है उसकी घटनाएं सुनकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं, और ऐसे में वे लोग जिन्होंने आजादी के आंदोलन में भारत माता की जय के नारे लगाए, वंदे मातरम के गीत गाए अगर भारत माता की शरण में आए हैं तो उन्हें नागरिकता प्रदान करना भारत सरकार का कर्तव्य है और  नागरिकता संशोधन अधिनियम बनाकर केंद्र सरकार ने ऐसे लोगों के साथ न्याय किया है।
भारतीय वैश्य महासंघ खुले ह्रदय से इस अधिनियम का, केंद्रीय गृह मंत्री जी का और देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का पुरजोर का समर्थन करता है और उनका धन्यवाद करता है। इस अवसर पर वहां उपस्थित महासंघ के सभी सदस्यों ने 8866288662 पर मिस कॉल देकर भी अपना समर्थन व्यक्त किया
इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष श्री विनोद गोयल जी ने आगामी होली मिलन कार्यक्रम 1 मार्च तथा वैश्य समाज के विवाह योग्य युवक-युवतियों के  विवाह हेतु  वैवाहिक परिचय सम्मेलन 24 मई को आयोजित करने का सुझाव दिया जिसे सदन ने सर्वसम्मति से अपनी सहमति प्रदान की
 सभा का संचालन कर रहे महामंत्री श्री विवेक अग्रवाल ने कहा गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी संस्था कक्षा 10 एवं 12 में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों का सम्मान कार्यक्रम भी आयोजित करेगी।
बैठक में संयोजक श्री राजेंद्र प्रसाद गोयल महिला अध्यक्ष श्रीमती रमा गोयल ,अनु गोयल मीनाक्षी अग्रवाल ,श्रीमती अरुण लता ,महावीर प्रसाद अग्रवाल राजेश सिंघल, एससी मित्तल, राधेश्याम जी, हरिराम महावर, सुधीर अग्रवाल, विजेंद्र गोयल, अजय गर्ग ,क्रांति सिंगल, आशुतोष गोयल, कमल सुल्तानिया, धन प्रकाश गोयल, कमलेश अग्रवाल, फतेह चंद गर्ग अनुराग संजीव मुकुल,गोपाल,उपेन्द्र भोला आदि बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।
सभा के अंत में संस्था की ओर से प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और गृह मंत्री श्री अमित शाह जी को समर्थन एवं धन्यवाद का पत्र प्रेषित करने के निर्णय के बाद हाल ही में दिवंगत हुए कार्यकारिणी सदस्य श्री शैलेंद्र मित्तल तथा  अमितागोयल जी की पुत्री के प्रति शोक संवेदना व्यक्त करते हुए 1 मिनट के मौन के पश्चात सभा का समापन किया गया।