त्रिवेंद्र की तानाशाही सरकार आगनबाड़ी कार्यकत्रियों की मांगों को नही मानी तो स्वम् बैठूंगा आमरण अनशन :- दिवाकर भट्ट

उत्तराखंड क्रान्ति दल के माननीय केंद्रीय अध्यक्ष श्री दिवाकर भट्ट जी स्पष्ट कहाँ कि त्रिवेंद्र की तानाशाही सरकार ने आगनबाड़ी कार्यकत्रियों का 57 दिनों से चले आ रहे आंदोलन व उनकी मांगों पर सकारात्मक कदम नही उठाया तो स्वम् आमरण अनशन पर बैठूंगा यह धमकी उत्तराखंड सरकार के मुखिया को फ़िया।
श्री भट्ट जी आज परेड ग्राउंड में आगनबाड़ी कार्यकत्रियों को संबोधित करते हुए कहा।राज्य को बनाने में हमने बहुत खोया है।42 शहादतें, परिवार के परिवार खत्म,महिलाओं का संघर्ष और अपमान के बाद ये राज्य प्राप्त हुआ है।उत्तराखंड क्रान्ति दल का त्याग तपस्या और बलिदान तथा संघर्षों के बदौलत राज्य प्राप्त हुआ है।भाजपा और कॉंग्रेस ने राज्य को किस हालात पर छोड़ दिया कि महिलाएं, युवा,कर्मचारियों का उत्पीड़न इन दोनों दलों की सरकारों ने इन 19 वर्षो में किया। अब सभी तो मिलकर भाजपा काँग्रेस को उत्तराखंड से खदेड़ना है। अनशन स्थल पर पी सी थपलियाल, किशन मेहता,डी के पाल,किशन रावत,सुनील ध्यानी,विजय बौड़ाई,आशीष नौटियाल,रेखा मिंया, शांति भट्ट,प्रमिला रावत,सीमा रावत,मीनाक्षी घिल्डियाल,केन्द्रपाल तोपवाल,लक्ष्मी रावत,कमलकांत,सूफी खलीक,मनोज ममगाईं,एनी थापा, के डी जोशी,एस एस तड़ियाल,अशोक नेगी आदि थे।