अधिशासी अभियंता ने लिए पानी के सेम्पल

 पर्यावरण संघर्ष समिति की शिकायत पर ललित मोहन पांडे अधिशासी अभियंता जल संस्थान के नेतृत्व में कई विभाग के अधिकारियों ने घोड़ानाला क्षेत्र के कई घरों से पानी के सेम्पल लिये गये।जिन्हें जांच के लिए भेज दिया है। 


बताते चलें कि स्थानीय पर्यावरण संघर्ष समिति बीते एक बर्ष से  स्थानीय सेंचुरी पेपर मिल से निकालने वाले जहरीले प्रदूषण से एवं दूषित नाले के  को भूमिगत करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही है साथ ही संघर्ष समिति द्वारा काई बारतहसील कार्यालय में कार्रवाई की मांग को लेकर आन्दोलन किया जा चुका है। जिसपर बीते एक महा पुर्व जिला प्रशासन ने घोड़ानाला क्षेत्र के घरों से पानी के सेम्पल लिये थे जिसकी जांच अभी तक सार्वजनिक नहीं हुई है इसी क्रम पर दूबरा जिलाधिकारी के निर्देश पर जल संस्थान एवं काई विभाग द्वारा घोड़ानाला क्षेत्र के लोगों के घर से पानी के सेम्पल लिये जिसे जांच के भेज दिया है। 
  
 समिति की शिकायत पर जिलाधिकारी के निर्देश पर आज जल संस्थान की टीम बिंदुखत्ता पहुंची और उन्होंने यहां घोड़ा नाला बिंदुखत्ता में  शास्त्री नगर में श्री नंदकिशोर देवरानी ,  पूर्वी घोड़ा नाला में चंदन सिंह रावत,  एवं पूर्वी घोडानाला मुल्तान नगरी में इंडिया मार्का हैंड पंप,  पश्चिमी घोड़ा नाला में श्री राम सिंह  किलमोरिया,, एवं श्री नंदन सिंह बोरा जी के घर के पास इंडिया मार्का हैंड पंप से   
भूमिगत जल के नमूने लिए। 


-क्षेत्रवासी लंबे समय से शिकायत करते आ रहे हैं कि सेंचुरी पेपर मिल द्वारा छोड़े जा रहे केमिकल युक्त पानी से घोड़ा क्षेत्र का भूमिगत जलस्तर दूषित हो गया है जिससे जल जनित तमाम बीमारियों से लोग ग्रसित है इसी को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी नैनीताल  के आदेश पर आज जल संस्थान की टीम भूमिगत पानी के नमूने लेने या बिंदुखत्ता पहुंची और उन्होंने 5 हैंडपंपों के नमूने लिए हैं शेष दर्जनभर नमूने 2 दिन बाद लेने का आश्वासन दिया।


इधर जांच अधिकारी ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर आज वह पहुंचे हैं और लोगों के घरों के पानी सेंम्पल लिए गये हैं जिसे जांच के लिए भेज दिये हैं।