किसानो ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन


 


सितारगंज क्षेत्र के दर्जनों किसानों ने अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले उपजिलाधिकारी सितारगंज कार्यालय पहुँच कर दो सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी गौरव कुमार को सौपकर कहा है कि किसानों द्वारा लगभग तीन माह पूर्व सितारगंज क्षेत्र के सहकारी क्रेय केन्द्रो पर धान तुलवाये गए थे। लेकिन सरकार द्वारा अभी तक 50 प्रतिशत किसानों को ही उनके पैसे को ऑनलाइन खातों में डाला है। अभी भी किसानों का लाखो रुपये धान का बकाया है। जबकि केंद्र सरकार द्वारा किसानों को 48 घंटो में ही उनकी फसलो के पेसो को ऑनलाइन उनके खातों डालने की बात कही गयी थी।
बता दें कि किसानों की मांग है कि किसानों को उनके धान की बकाया राशि तुरंत ऑनलाइन करके उनके खातों में डाली जाए, और उनकी दूसरी मांग है कि किसानों को उत्तराखंड में कृषि यंत्रों पर 40 प्रतिशत तक की (छूट) सब्सिटी दी जा रही है। जबकि दूसरे राज्यो में किसानों को कृषि यंत्रों पर 70 से लेकर 90 प्रतिशत की (छूट) सब्सिटी दी जाती है। हमारी मांग है कि उत्तराखंड के किसानों को भी दूसरे राज्यो की भांति 70 से 90 प्रतिशत की (छूट) सब्सिटी दी जाए।
वही उपजिलाधिकारी सितारगंज गौरव कुमार ने बताया कि अखिल भारतीय किसान सभा के किसान कार्यालय पहुँचे थे उनके द्वारा दो सूत्रीय मांगों को लेकर मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन दिया गया है। जिसमे किसानों के द्वारा सरकारी क्रेय केंद्रों पर तुले धान के बकाया राशि का तुरंत भुगतान किए जाने की मांग की गयी है, साथ ही दूसरी मांग की गयी है कि किसानो को कृषि यंत्रों पर दी जाने वाली (छूट) सब्सिटी को बढ़ाया जाये। उनके ज्ञापन को माननीय जिलाधिकारी ऊधमसिंहनगर के माध्यम से माननीय मुख्यमंत्री को भेजा जा रहा है।