नहीं थम रहा कोरोना का कहर, भारत ने चीनी नागरिकों के आने पर रोक लगाई, मृतकों की संख्या 563

  चीन में जानलेवा कोरोनावायरस के चलते मृतकों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। वहीं, भारत में भी इसके संदिग्धों की बढ़ोतरी हो रही है। केरल में बुधवार को कोरोनावायरस के 153 संदिग्ध मामले सामने आए। इनमें 16 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। राज्य की स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने इस बात की जानकारी दी। चीन के अलावा हांगकांग और फिलीपींस में भी कोरोनावायरस से एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई है। थाईलैंड में कोरोनावायरस के एक संदिग्ध का मामला पॉजिटीव पाया गया है। चीन में जहां बुधवार को 73 और लोगों की जान चली गई, इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 563 हो गई और इस विषाणु से संक्रमित होने के 28,018 मामलों की पुष्टि हुई है। चीन राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने बताया कि बुधवार को इससे 73 और लोगों की जान चली गई और इनमें से 70 हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान से थे, जहां इससे सबसे अधिक लोग मारे गए हैं। आयोग ने बताया कि देश में अभी तक इस वायरस की चपेट में आने से कुल 563 लोगों की जान जा चुकी है और 28,018 मामलों की पुष्टि हुई है।चीन में कोरोनावायरस को लेकर राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने बुधवार को कहा कि बचाव और नियंत्रण की स्थिति संकटपूर्ण है। उन्होंने कहा कि वायरस को रोकने और इस पर नियंत्रण पाने के लिए कानून पर आधारित, वैज्ञानिक और सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता है। उन्होंने यह बात कम्यूनिस्ट पार्टी की सेंट्रल कमेटी मीटिंग के दौरान कही। कोरोनावायरस की आपदा से जूझ रहे चीन ने सेना को बुला लिया है। राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपने आदेश में कहा है कि चीनी सेना, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) को अब इस महामारी को रोकने की जिम्मेदारी लेनी होगी। सेना को यह समझना होगा कि हालात बहुत मुश्किल और चुनौती भरे हैं। उन्होंने कहा कि पीएलए को अपना मकसद ध्यान में रखना होगा और आदेशों का पालन करना होगा। उन्होंने  लोगों की मदद करने को लेकर कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना की प्रशंसा के पुल भी बांधे।