दिल्ली की तर्ज पर निजी स्कूलों को निर्देशित करें उत्तराखंड सरकार:- आप देहरादून

 आम आदमी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता  रविन्द्र सिंह आनन्द ने अपना बयान जारी कर दिल्ली सरकार द्वारा निजी स्कूलों को 3 महीने तक फीस ना लेने, फिलहाल किसी भी प्रकार का फीस वृद्धि ना करने, बच्चों के अभिभावकों से ट्रांसपोर्टेशन फीस ना लेने, और सभी बच्चों को ऑनलाइन क्लास अनिवार्य रूप से देने तथा यदि किसी अभिभावक के पास यदि  फीस के पैसे ना हो तो उसके बच्चे का नाम ना काटने तथा अन्य किसी भी प्रकार का वार्षिक शुल्क नहीं लेने का आदेश जारी करने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी का धन्यवाद दिया तथा साथ ही उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को नसीहत देते हुए कहा कि वे भी दिल्ली की तर्ज पर उत्तराखंड के सभी निजी स्कूलों को 3 महीने की फीस ना लेने के लिए निर्देशित करें साथ ही स्कूलों द्वारा लिए जा रहे एनुअल फीस भी माफ की जाए वहीं दूसरी ओर पार्टी के संगठन प्रभारी श्री डीके पाल ने कहा उत्तराखंड सरकार को निजी स्कूलों पर नकेल कसनी चाहिए अन्यथा आम आदमी पार्टी अभिभावकों के साथ सड़क पर उतरेगी और उग्र आंदोलन करेगी।
अंत में रविन्द्र आनन्द ने कहा कि अक्सर बच्चों के स्कूल खुलने पर अभिभावकों का घरेलू बजट बिगड़े ही जाता है क्योंकि जहां एक और कॉपी किताब वहीं दूसरी ओर स्कूल की भारी-भरकम फीस का प्रभार पड़ता है लेकिन करोना महामारी के चलते जबकि लोगों के काम धंधे बंद हैं ऐसी स्थिति में वह किस प्रकार मैनेज कर पाएंगे उन्होंने कहा कि यदि सरकार द्वारा कोई सकारात्मक कदम इस दिशा में नहीं उठाया जाता तो आम आदमी पार्टी कि कार्यकर्ता एकजुट होकर अभिभावकों सहित निजी स्कूलों द्वारा की जा रही मनमानी के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे ।