Page Nav

HIDE

Gradient Skin

Gradient_Skin

Breaking News

latest

सौतेले बाप ने मासूम बेटी की की हत्या , आत्महत्या की कोशिश में काटा गला

  खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के चक निरातुल चैफटका मोहल्ले में गुब्बारा की मांग कर रही चार वर्षीय बेटी का एक कलयुगी बाप ने गला काट कर हत्या कर द...

 


खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के चक निरातुल चैफटका मोहल्ले में गुब्बारा की मांग कर रही चार वर्षीय बेटी का एक कलयुगी बाप ने गला काट कर हत्या कर दी और खुद चाकू से अपने पेट एवं गर्दन काट लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसे स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में भर्ती कराया है। 
   सिद्धार्थ नगर जनपद के भवानीगंज थाना क्षेत्र के बयारा डुमरियागंज निवासी राजेन्द्र अग्रहरि जीवन यापन के लिए गैस चूल्हा मरम्मत एवं कुकर आदि बेचने का काम करता है। बताया जा रहा है कि एक माह पूर्व वह अपनी चार वर्षीय बेटी पंखुड़ी एवं पत्नी पिन्कल के साथ खुल्दाबाद थाना क्षेत्र के  चक निरातुल चैफटका निवासी शांती देवी पत्नी स्वर्गीय दयाराम के घर किराये का कमरा लेकर रहने लगा।
  मंगलवार की सुबह किसी बात को लेकर पत्नी से झगड़ा करने लगा और एक कमरे में पत्नी को बाहर कर दिया और खुद बेटी को लेकर अन्दर घुस गया। कुछ देर बाद उसकी बेटी की चीखने लगी और वह चीखने लगा। दोनों की चीख सुनकर उसकी पत्नी पिन्कल ने शोर मचाया तो गृह स्वामनी शांति व उसके परिवार के लोग मौके पर पहुंचे। कमरे के अन्दर खिड़की से देखा तो बेटी खून से लथपथ तड़प रही थी और जमीन पर पड़ा था। यह देखते ही पुलिस को सूचना दी गई। सूचना पर इंस्पेक्टर खुल्दाबाद मौके पर पहुंचे। कमरे को किसी तरह खुलवाया और तत्काल राजेन्द्र अगहरी 27 वर्ष एवं उसकी चार वर्षीय बेटी पंखुड़ी को उपचार के लिए स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में भर्ती कराया। जहां चिकित्सकों ने पंखुड़ी को मृत घोषित कर दिया। राजेन्द्र का उपचार शुरू कर दिया। सनसनी खेज वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस विभाग के आलाधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मासूम बच्ची के शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दिया है। 


 पहले पति की बेटी थी पंखुड़ी जिससे जलन रखता था राजेन्द्र


 मृतका पंखुड़ी की मां पिन्कल ने बताया कि राजेन्द्र के गांव में ही उसके माता पिता ने उम्रदराज शिवाकान्त से शादी किया था। उसका पति मुम्बई में रहकर कोई प्राइवेट नौकरी करता है। शादी के बाद पिन्कल ने दो बेटो को जन्म दिया, उसके बाद राजेन्द्र से उसका सम्बन्ध हो गया। पंखुड़ी में दो माह की गर्भ में थी वह पहले पति का घर छोड़कर राजेन्द्र के साथ भाग निकली। जिसके बाद से उसके साथ ही रह रही थी। लेकिन राजेन्द्र मायके वालों से पिन्कल से बात-चीत नहीं करने देता था। खुल्दाबाद में शांती देवी के घर एक माह पूर्व कमरा लिया और रहने लगा। राजेन्द्र दूसरे की बेटी होने की वजह से आए दिन मारता - पीटता था। मंगलवार की सुबह उसकी हत्या कर दी।   
  नगर पुलिस अधीक्षक बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि एक युवक ने गुब्बारे के लिए मासूम सतेली बेटी का कत्ल कर दिया और खुद अपनी गर्दन काट लिया है। युवक को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस सम्बन्ध में जांच की जा रही है।